घर के एक छोटे से कोने में खूंटा में बांध कर करें इस नस्ल के गाय का पालन, रोजाना 50 से 80 लीटर दूध देने में सक्षम, जाने इस नस्ल के बारे में पूरी जानकारी

Gir Cow: हमारे देश में पशुपालन और डेयरी फार्मिंग का बिजनेस तेजी से फल-फूल रहा है आपको बता दें कि ग्रामीण इलाकों में लाखों लोगों के लिए डेयरी फार्मिंग और पशुपालन आय का एक स्रोत बन गया है। हमारे देश में गाय की एक ऐसी नस्ल पाई जाती है जो रोजाना 50 से 80 लीटर तक दूध देती है। इस नस्ल की गाय का नाम है गिर

गिर गाय भारत की प्रमुख दुधारू देसी नस्ल में से हैं। इस गाय को काठियावाड़ी, गुजराती, देसन सुरती, सोरठी आदि के नाम से भी जाना जाता है। गिर नस्ल की गाय की उत्पत्ति गिर जंगलों को माना जाता है इसी वजह से इस नस्ल को गिर नस्ल भी कहते हैं। अधिक दूध उत्पादन के लिए ज्यादातर लोग गिर गाय का पालन करते हैं।

तो दोस्तों आज के इस पोस्ट में हम आपको गिर गाय के बारे में पूरी जानकारी देने वाले हैं तो आप हमारे इस पोस्ट को शुरू से अंत तक ध्यान पूर्वक जरूर पढ़ें।

जानिए गिर गाय नस्ल की खासियत

गिर नस्ल की गाय का शरीर लाल रंग का होता है। शारीरिक आकार माध्यम से बड़ा होता है। इस नस्ल के गाय का कान लंबा और नीचे की ओर लटके हुए होते हैं। इनके शरीर पर गहरी लाल या चॉकलेट के तरह भूरे रंग के धब्बे पाए जाते हैं। माथा उत्तर और चावड होता है जो इन्हें तेज धूप से बचाती है। नरगिर गाय का वजन 545 किलोग्राम और ऊंचाई 135 सेंटीमीटर होती है। मादा गिर गाय का वजन 385 किलोग्राम और ऊंचाई 130 सेंटीमीटर होती है।

जानिए गिर गाय नस्ल की विशेषताएं

गिर नस्ल की की गाय एक ब्यांत में 1200 से 1800 किलोग्राम तक दूध देती है। इस नस्ल की गाय रोजाना 12 लीटर दूध देती है लेकिन दोस्तों अगर आप इसका अच्छे से ख्याल रखते हो तो यह गाय 50 से 80 लीटर तक दूध दे सकती है। गिर नस्ल की गाय की औसत आयु 12 से 15 साल तक की होती है।

इस नस्ल की गए अपने पूरे जीवन काल में 6 से 12 बछड़े को जन्म देती है। 3 साल की आयु होने पर यह नस्ल को जन्म देने में सक्षम हो पाती है। गिर नस्ल की गाय की रोग प्रतिरोधक क्षमता अच्छी होती है। गाय के दूध में वसा की मात्रा 5% पाई जाती है। इस नस्ल की गए विभिन्न जलवायु और गर्म क्षेत्र में आसानी से रह लेती है।

जानिए गिर गाय के चारे के बारे में

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि गाय के आहार पर ही दूध की उत्पादन क्षमता और उसकी गुणवत्ता पर निर्भर करती है। गिर नस्ल की गाय के चारे में आपको मूंगफली, सरसों, अलसी, बाजरा, मक्का, जौं, जौं चावल, गेहूं, मक्के से तैयार की गई खुराक, आदि को आप आहार में शामिल कर सकते हैं।

इस प्रकार दोस्तों आप गिर नस्ल की गाय का पालन करके मोटी कमाई कर सकते हैं इसके साथ ही आप डेयरी फार्मिंग का बिजनेस करके बहुत ही कम समय में मालामाल बन सकते हैं।

गिर नस्ल की गाय की कीमत

गिर नस्ल की गाय की कीमत भारतीय बाजार में 20 से 25 हजार रुपए तक होती है। गिर नस्ल की गाय की कीमत दूध की उत्पादन क्षमता उनके उम्र और स्वास्थ्य पर भी निर्भर करता है।

निष्कर्ष

तो दोस्तों आज के इस पोस्ट में हमने आपको गिर गाय की नस्ल के बारे में पूरी जानकारी देने की कोशिश की है अगर आप हो या जानकारी अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों और फैमिली के साथ शेयर जरूर करें तो दोस्तों आज के लिए बस नहीं मिलते हैं अगले पोस्ट पर तब तक के लिए Lot’s of love Jharna Chaudhary

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *