Dudharu Bhains Ki Pahchan: दुधारू भैंस की पहचान करने का 8 आसान टिप्स, यहां जाने

Dudharu Bhains ki Pahchan: नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका हमारे आज के इस पोस्ट में। मैं आशा करती हूं कि आप सभी बहुत अच्छे होंगे। दोस्तों जैसा कि आप सभी जानते हैं डेयर फार्मिंग के बिजनेस में भैंसों का महत्वपूर्ण योगदान है। पूरे विश्व की तुलना में हमारे भारत देश में भैंसों का पालन सबसे ज्यादा किया जाता है। गाय के दूध के मुकाबले भैंस के दूध से पशुपालक को सबसे ज्यादा कमाई होती है। यही वजह है कि हमारे भारत देश में भैंस पालन बड़ी मात्रा में की जाती है। ऐसे में दोस्तों पशुपालकों को दुधारू भैंस की पहचान करने में बड़ी दिक्कत होती है क्योंकि दुधारू भैंस ही पशुपालक को मोटी कमाई दे सकती है।

दोस्तों अगर आप भी डेयरी फार्मिंग का बिजनेस करना चाहते हैं और आप दुधारू भैंस खरीदना चाहते हैं तो आप इन आसान टिप्स से दुधारू बहस की आसानी से पहचान कर सकते हैं। तो दोस्तों आप हमारे इस पोस्ट को शुरू से अंत तक ध्यान पूर्वक जरूर पढ़ें।

दुधारू भैंस की पहचान ऐसे करें

• दुधारू भैंस की नस्ल में मुर्रा भैंस को सबसे अच्छा माना जाता है। मुर्रा भैंस ज्यादा दूध देने के साथ-साथ इसके दूध में फैट और प्रोटीन भी बहुत अधिक पाया जाता है।

• दुधारू भैंस की चमड़ी चिकनी और ज्यादा चमकदार होती है इसके अलावा इनकी आंखें चमकीली होती है। दुधारू भैंस की आंखों में बहुत ही कम बाल देखने को मिलते हैं।

• दुधारू पशु की शरीर की बनावट पीछे की ओर चौड़ी और आगे की ओर पतली होती है। दुधारू पशु को सामने से देखने पर तिकोनी आकार की दिखाई देती है। इस प्रकार आप अंदाजा लगा सकते हैं कि यह भैंस दुधारू नस्ल की भैंस है।

• अगर भैंस खरीद रहे हैं तो उनके आयु का भी पता जरूर लगाना चाहिए। एक भैंस का जीवनकाल 20 से 22 साल तक का होता है इसलिए दोस्तों आप कम उम्र की भैंस को खरीदे।

• भैंस की उम्र का पता आप उनके सिंह और दातों के जरिए भी आसानी से लगा सकते हैं।

• भैंस की स्वास्थ्य को देखकर आप बहुत ही आसानी से उम्र का पता लगा सकते हैं। अगर आपको भैंस कमजोर दिखाई देती है तो हो सकता है कि उसकी उम्र ज्यादा हो। आप चाहे तो भैंस बेचने वाले से पशु कार्ड भी मांग सकते हैं।

• अगर आप भैंस खरीदते हैं तो खरीदते समय कम से कम तीन बार दूध दुहते हुए हुए जरूर देखना चाहिए। क्योंकि कई बार ऐसा होता है कि भैंस बेचने वाला व्यक्ति दूध की उत्पादन क्षमता को ज्यादा बताकर बेच देता है।

• अगर आपको ज्यादा दूध देने वाली ऐसी भैंस मिल रही है जिसने मादा बच्चे को जन्म दिया है तो आपके लिए बहुत ही फायदेमंद हो सकता है क्योंकि आपको भविष्य के लिए भी आसानी से दुधारू पशु मिल जाता है।

निष्कर्ष

आज के इस पोस्ट में हमने आपको दुधारू भैंस की पहचान करने का 8 आसान टिप्स के बारे में पूरी जानकारी देने की कोशिश की है अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों और फैमिली के साथ शेयर जरूर करें।

ऐसे ही पशुपालन, खेती किसानी, बिजनेस आइडिया की पूरी जानकारी के लिए आज ही नोएडा जॉब वेबसाइट पर विजिट करें। तो दोस्तों आज के लिए बस इतना ही मिलते हैं अगले पोस्ट पर तब तक के लिए Lot’s of love Jharna Chaudhary

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *