इस नस्ल की बकरी का पालन आपको बना देगा लखपति, 1 लाख रुपए से भी ज्यादा है कीमत, जाने इस नस्ल की पूरी जानकारी

Bakri Palan Kaise Kare: नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका हमारे आज के इस पोस्ट में। मैं आशा करती हूं कि आप सभी बहुत अच्छे होंगे। दोस्तों जैसा की आप सभी को पता है मछली पालन और मुर्गी पालन के बाद ऐसे बहुत सारे लोग हैं जो बड़े लेवल पर बकरी पालन कर रहे हैं। बकरी पालन करने वाले लोग सिरोही नस्ल और तोतापुरी नस्ल की बकरियों का पालन कर रहे हैं।

इस नस्ल की बकरी का पालन करके तिगुना मुनाफा कमाए

आज के जमाने में सभी लोग नए नए तकनीक से खेती कर रहे हैं और सभी का रुझान खेती की ओर बढ़ रहा है लोग खेती के बाद पशुपालन की ओर भी तेजी से बढ़ रहे हैं। भारत में मछली पालन और मुर्गी पालन के बाद लोग बकरी पालन भी बड़े लेवल पर कर रहे हैं। बकरी पालन करने वाले लोग सिरोही नस्ल और तोतापुरी नस्ल की बकरियों का पालन कर रहे हैं। तो चलिए दोस्तों आपको विस्तार से बताते हैं इन नस्ल की बकरियों के बारे में। दूसरे बकरियों की तुलना में इस नस्ल की बकरी का देखभाल की जरूरत होती है लेकिन इसमें लागत का तिगुना मुनाफा प्राप्त होता है।

घर के छत पर भी पाल सकते हैं इस नस्ल की बकरियों को

अन्य बकरी के मुकाबले तोतापुरी व सिरोही नस्ल की बकरी की डिमांड काफी ज्यादा होती है ऐसे बहुत सारे लोग हैं जो अपने घर के छत पर इसे आसानी से पाल रहे हैं। तोतापुरी और सिरोही नस्ल की बकरी की बारे में बात की जाए तो किसानों को इसका बहुत ज्यादा ध्यान रखना होगा। इस नस्ल की बकरियों के कुछ बातों का ध्यान देने की बहुत ज्यादा जरूरत है।

सिरोही नस्ल और तोता परी नस्ल की बकरियों के सेहत के लिए रखें जरूरी ध्यान

सिरोही नस्ल और तोतापुरी नस्ल की बकरियों में कुछ विशेष बातों पर ध्यान देने की जरूरत है जहां इस बकरी को रखेंगे उसी स्थान पर नम नहीं होना चाहिए। क्योंकि नमी होने के कारण बकरियों में निमोनिया का खतरा बढ़ जाता है। इसके साथ ही भोजन में दाना के साथ हरा चारा, मिनरल मिक्सचर देना चाहिए। अलग-अलग जगह पर भी बकरियों को रखना चाहिए और भोजन में भी बदलाव करते रहना चाहिए। इस बकरी के पालन से काफी ज्यादा फायदा होता है। जहां पर आप बकरी को रखते हो वहां रोज तीन से चार बार साफ सफाई करने की जरूरत है। बीमारी से इन बकरियों को बचाने के लिए कीड़े की दवा के साथ हर 3 महीने पर पीपीआर और ईटी का टीका देना भी बहुत ही ज्यादा जरूरी है।

सिरोही नस्ल और तोतापरी नस्ल की कीमत के बारे में पूरी जानकारी

मिली जानकारी के अनुसार सिरोही की ओरिजिनल नस्ल की बकरी के 5 महीने के बच्चे 40 हजार रुपए में आती है अगर इसकी वजह 100 किलो से ज्यादा है तो इसकी कीमत 1 लाख या इससे ज्यादा भी होता है। वही तोतापुरी नस्ल की 3 महीने की बकरी की कीमत 48 से 50 हजार रुपए में आती है। डेढ़ साल बाद इसकी कीमत एक लाख रुपये से भी ज्यादा होती है।

निष्कर्ष

दोस्तों आज के इस पोस्ट में हमने आपको बकरी पालन के लिए दो प्रमुख नस्लें के बारे में पूरी जानकारी देने की कोशिश की है। अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों और फैमिली के साथ शेयर जरूर करें। तो दोस्तों आज के लिए बस इतना ही मिलते हैं अगले पोस्ट पर तब तक के लिए Lot’s of love Jharna Chaudhary

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *